saanjh aai

Just another weblog

60 Posts

146 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 14516 postid : 774725

चलो आली .....

Posted On: 17 Aug, 2014 Others,कविता में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

चलो आली चितचोर आया
त्रिभंगी मुद्रा तिरछी चितवन
मनहर रूप रसराज
रास रासेस्वर आया
चलो आली !
कालिय नाग नथैया
अहंकार तुडैया
गौवों का चरैया
गोपी प्राण वसैया आया
चलो आली !
धर्म रक्षक ,धर्म कारक
धर्म पालक .धर्म धारक
धर्म राज्य रचैया आया
चलो आली
!
प्रेम रूपक ,प्रेम धारक
प्रेम पोषक ,प्रेम रक्षक
प्रेम रचनाकार आया
चलो आli

प्राण दाता ,दुःख हर्ता
सुख करता ,दीना नाथ
जगत नाथ आया
चलो आली !

अनंत ,अखंड
अछेद ,अभेद
परमा नन्द
सुवेद आया
चलो आली !

चित चोर ,चीर चोर
माखन चोर ,मन चोर
सुदर्शन प्रेम रूप धार आया
चलो आली !

कृष्णा -कृष्णा
महाबाहो
अच्युत ,धीमहि गोविंद आया
चलो आली !!!

चलो आली -शकुन्तला मिश्रा (अभया)



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rajanidurgesh के द्वारा
August 21, 2014

शकुन्तलाजी, मनमोहक कविता एक -एक पंक्ति दिल को छूने वाली है अच्युत ,धीमहि गोविन्द आया चलो आली अति सुन्दर बधाई

pkdubey के द्वारा
August 18, 2014

सुन्दर कृति आदरणीया | जय श्री कृष्ण |


topic of the week



latest from jagran